बनारस में पूर्व विधायक ने जताई हत्या की आशंका, सीएम को पत्र लिख मांगी सुरक्षा


भाई स्व.अवधेश राय हत्याकांड के हैं चश्मदीद गवाह


नौ फरवरी को होनी है अहम सुनवा


जनसंदेश न्यूज
वाराणसी।
स्व. अवधेश राय हत्याकांड के चश्मदीद गवाह पूर्व विधायक अवधेश राय ने गवाही के दौरान अपनी ही हत्या की आशंका जतायी है इसके लिए उन्होंने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है लेकिन अभी तक सरकार की ओर से किसी भी प्रकार की सुरक्षा नहीं मिलने से नाराजगी भी है।

रविवार को लहुराबीर स्थित अपने आवास पर इस संदर्भ में पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने बताया कि उन्हें कुख्यात अपराधी मुख्तार अंसारी के खिलाफ इलाहाबाद में लंबित मुकदमे में गवाही हेतु न्यायालय के द्वारा सुरक्षा देने का आदेश दिया गया है, बावजूद इसके सुरक्षा हटा ली गई है।

पूर्व विधायक अजय राय ने बताया कि अवधेश राय हत्याकांड में मुख्तार अंसारी मुख्य आरोपी है और खुद अजय राय इस मामले में गवाह है। वें लगातार इलाहाबाद हाईकोर्ट में इस केस में गवाई दे रहे है। कोर्ट ने उनकी सुरक्षा के लिए सरकार को आदेश जारी किया है,लेकिन उसके बाद भी राजनैतिक द्वेष में योगी सरकार उन्हें सुरक्षा नही दे रही है।

आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को पूरी तरह से बचाने का कार्य कर रही है। स्व. अवधेश हत्याकांड में नौ फरवरी मंगलवार को प्रयागराज में सुनवाई होनी है इसके लिए वह गवाही के लिए प्रयागराज जाएंगे। ज्ञात हो कि कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय अपने भाई स्व.अवधेश राय हत्याकाण्ड के आरोपित बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के खिलाफ चश्मदीद गवाह हैं। अगस्त 1991 में मुख्तार गैंग के शूटरों ने अवधेश राय की हत्या की थी।