इमरान ने फिर रागा कश्मीर का अलाप, यूएन निकाले हल

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी आदत से मजबूर हैं। वैश्विक मंचों पर कश्मीर का मुद्दा उठाकर अपनी किरकिरी कराने के बाद भी वे बाज नहीं आ रहे हैं। अब एक बार फिर उन्होंने कश्मीर का राग अलापा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि भारत ने पिछले सात दशकों में कश्मीर के लोगों की आवाज को दबाया है। मगर पाकिस्तान कश्मीर के लोगों का साथ देगा।
इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर को लेकर लगातार कई ट्वीट किए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र के नियमों के तहत जम्मू-कश्मीर के मसले का हल चाहता है। भारत को एक बार फिर गीदड़भभकी देते हुए इमरान ने कहा कि कश्मीर की नई पीढ़ी अपनी लड़ाई लड़ रही है और पाकिस्तान उनके साथ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अपनी ओर से शांति के लिए दो कदम बढ़ाने के लिए तैयार है।
बता दें कि इमरान खान कई बार जम्मू-कश्मीर के मसले को उठा चुके हैं। उन्होंने देश में दिए अपने भाषणों और अंतरराष्ट्रीय मंच पर संबोधन के दौरान कश्मीर का जिक्र किया है। हालांकि उन्हें हर बार मुंह की खानी पड़ी है क्योंकि भारत ने साफ कहा है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और ये चर्चा का विषय नहीं है।
इमरान खान ने ऐसे समय पर ये ट्वीट किए हैं जब हाल ही में पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर बाजवा ने अपने बयान से हर किसी को चैंका दिया था। बाजवा ने एक संबोधन में कहा था कि वक्त आ गया है कि क्षेत्र के सभी विवादों का शांतिपूर्ण तरीके से हल होना चाहिए, ताकि दोस्ती का हाथ आगे बढ़ाया जा सके।