गैंगरेप का आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार, दो सिपाही सस्पेंड

प्रयागराज: कौशांबी में पुलिस मुठभेड़ में घायल गैंगरेप का आरोपी मंगलवार को पुलिस को चकमा देकर अस्पताल से फरार हो गया। यह आरोपी तीन दिन पहले पुलिस की गोली से घायल हुआ था। प्रयागराज के एसआरएन में इलाज किया जा रहा था।

जानकारी के मुताबिक बीती रात पुलिस को चकमा देकर अस्पताल से आरोपी फरार हो गया. सरायअकिल इलाके में तीन दिन पहले चार युवकों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था. इसमें एक आरोपी गुलशन भी था. धर-पकड़ के दौरान आरोपी गुलशन के पैर में गोली लगी थी। आरोपी ने फर्जी मुठभेड़ की कहानी मीडिया को बताई थी।  अस्पताल से फरार होने के मामले में एसपी ने बदमाश की सुरक्षा में तैनात दो सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही टॉप टेन अपराधी गुलशन की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दी है।

उल्लेखनीय है कि सरायअकिल कोतवाली क्षेत्र में शुक्रवार सुबह प्रेमी के साथ पकड़ी गई आठवीं की छात्रा से तीन अन्य युवकों ने भी सामूहिक दुष्कर्म किया था। परिजनों ने छात्रा के प्रेमी सहित चारों आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 

मुख्य आरोपी को पुलिस ने उसी दिन गिरफ्तार कर लिया था। गैंगरेप में शामिल दूसरे आरोपी को पुलिस ने सराय अकिल के पास एक मुठभेड़ में पकड़ लिया। इस दौरान पुलिस पर हमला करने के दौरान जवाबी फायरिंग में उसके एक पैर में गोली लग गई, जिससे वह घायल हो गया। आरोपी गुलशन को घायल अवस्था में पुलिस ने स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल प्रयागराज में उपचार के लिए भर्ती कराया था।

इसी दौरान मौका पाकर आरोपी गुलशन मंगलवार को सुबह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गई। चारों ओर नाकेबंदी कर उसकी खोजबीन शुरू कर दी गई है। हालांकि वह अभी तक पुलिस की पकड़ में नहीं आया है। इस घटना से पुलिस की मुस्तैदी पर भी सवाल खड़े हो गए हैं।