असम में PM मोदी ने 5 प्रोजेक्ट्स का किया शिलान्यास, बताया-भारत का ग्रोथ इंजन

धेमाजी (असम): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को धेमाजी जिला के सिलापथार में पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया। अपना उद्बोधन असमिया भाषा में शुरू करते हुए पूर्व की सरकारों पर असम व पूर्वोत्तर के विकास की अनदेखी का आरोप लगाया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यहां की आत्मीयता, अपनापन, यहां के लोगों का आशीर्वाद मुझे असम व पूर्वोत्तर के लिए कुछ न कुछ करने के लिए प्रेरणा देता है। जब गोगामुख में इंडियन एग्रीकल्चर इंस्टीट्यूट का उद्घाटन करने पहुंचा था तो मैंने कहा था कि पूर्वोत्तर देश के विकास का इंजन बनेगा।

पीएम मोदी ने इन परियोजनाओं को किया समर्पित
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन ऑयल की बोंगाईगांव रिफाइनरी में इंडमैक्स इकाई, डिब्रूगढ़ के मधुबन में ऑयल इंडिया लिमिटेड के सेकेंडरी टैंक फार्म और तिनसुकिया के मकुम के हेबड़ा गांव में एक गैस कंप्रेशर स्टेशन को राष्ट्र को समर्पित किया. इसके साथ प्रधानमंत्री ने धेमाजी इंजीनियरिंग कॉलेज का उद्घाटन किया और सुआलकुची इंजीनियरिंग कॉलेज का शिलान्यास किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि धेमाजी से ही असमिया फिल्म ने अपनी यात्रा शुरू की थी। इस क्षेत्र ने असम के गौरव को बढ़ाने वाले लोगों को दिया है। भारत रत्न भूपेन हजारिका की कविता का जिक्र करते हुए कहा ब्रह्मपुत्र के दोनों किनारों से जलने वाले दीयों से यह क्षेत्र रोशन होगा। उन्होंने कहा कि बीती रात यहां के लोगों ने हजारों दीप जलाकर दीपावली मनायी। यह असम में शांति और विकास का प्रतीक है।

पीएम मोदी ने असम राज्य की महानता का जिक्र करते हुए कहा की ब्रह्मपुत्र के इसी नॉर्थ बैंक से, आठ दशक पहले असमिया सिनेमा ने अपनी यात्रा, जॉयमती फिल्म के साथ शुरू की थी। इस क्षेत्र ने असम की संस्कृति का गौरव बढ़ाने वाले अनेक व्यक्तित्व दिए हैं। नॉर्थ बैंक में भरपूर सामर्थ्य होने के बावजूद पहले की सरकारों ने इस क्षेत्र के साथ सौतेला व्यवहार किया। यहां की कनेक्टिविटी हो, अस्पताल हों, शिक्षा के संस्थान हों, उद्योग हों, पहले की सरकारो की प्राथमिकता में नजर ही नहीं आ रहे थे।